गुरुजी का रिपोर्ट कार्ड अब तैयार करेंगे बच्चे

0
44

कानपुर । कक्षा में आने के बाद शिक्षक कैसा पढ़ाते हैं? उनका पढ़ाया समझ में आता है कि नहीं? उनके समझाने और पढ़ाने का तरीका कैसा है? यह सारी जानकारियां महाविद्यालयों में पढऩे वाले छात्र-छात्रएं नैक द्वारा जारी प्रोफार्मा में भरकर देंगे। कुल मिलाकर कहा जाए कि अब शिक्षकों का भी रिपोर्ट कार्ड तैयार होगा। यह निर्णय गुरुवार को सीएसजेएम विश्वविद्यालय में हुई संबद्ध महाविद्यालयों की बैठक में लिया गया। कुलपति प्रो. नीलिमा गुप्ता की अध्यक्षता में हुई बैठक में अशासकीय, राजकीय व स्ववित्तपोषित महाविद्यालय के प्राचार्य उपस्थित रहे। नए सत्र 2018-19 के पाठ्यक्रम को लेकर दिए गये निर्देशों में 16 जुलाई से परास्नातक कक्षाएं शुरू करने और प्रवेश प्रक्रिया के समस्त कार्य 21 जुलाई तक पूरा करने को कहा है। वर्ष भर की समय सारणी बना ली जाए। अध्यापकों व विद्यार्थियों के बीच सीधा संवाद करने के लिए सप्ताह में एक पीरियड जरूर निर्धारित किया जाए। इसके लिए उन्होंने शनिवार के दिन का सुझाव दिया। छात्र-छात्रएं अपनी शिकायत और समस्याओं की सुनवाई के लिए आइसीसी का गठन करने के निर्देश दिए। 1एनएसएस की इकाइयों को महाविद्यालय लेवल पर सक्रिय बनाया जाए तथा समय-समय पर पर्यावरण बचाओ अभियान और सफाई आदि की जानकारी विद्यार्थियों को दी जाए। महाविद्यालयों में सेमिनार कांफ्रेंस आदि को कराने पर जोर दिया जाए, जिससे शिक्षक भी जानकारी के मामले में अपग्रेड रहें। इस अवसर पर शहर के सभी कॉलेजों के प्राचार्य के अलावा इटावा, लखीमपुर, सीतापुर रायबरेली आदि के महाविद्यालयों के प्राचार्य उपस्थित रहे। इस अवसर पर मीडिया प्रभारी प्रो. संजय स्वर्णकार, कुलसचिव डॉ. विनोद कुमार सिंह, सिस्टम मैनेजर, उप कुलसचिव आदि उपस्थिति रहे।

और पढ़ें:   यह तकनीक देख लोगो तो वीडियो कालिंग भी भूल जाओगे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here