बिहार से अमेरिका तक साइकिल गर्ल के चर्चे, एडमिशन के लिए पहुंचे शिक्षा अधिकारी

Must Read

करीना कपूर, रणबीर कपूर, करण जौहर बॉलीवुड की ‘गॉसिप गर्ल्स’ हैं, अनन्या पांडे का खुलासा

जैसे की हम सभी जानते हैं की देश मैं अभी कोरोना काल चल रहा है इस कोरोना काल के...

अर्जुन कपूर हेरा फेरी में रणवीर सिंह के साथ अभिनय करना चाहते हैं

आपको तो पता होगा की रणबीर सिंह और अर्जुन कपूर बॉलीवुड मैं बोहोत अच्छे दोस्त माने जाते हैं। इस...

मुजफ्फरपुर स्टेशन के जिस बच्चे का वीडियो वायरल हुआ था, शाहरुख करेंगे उसकी मदद

जैसे की हम सभी जानते हैं की इस समय पूरा देश कोरोना नामक वैश्विक बीमारी से जूझ रहा है...
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली । bicycle girl मेहनत, लगन और जुनून ये तीनों ही गुण बिहार की ज्योति कुमारी में मौजूद थे, कमी थी तो बस धन दौलत की, नतीजतन पिता के साथ मुफलिसी की जिंदगी जी रही थी। लेकिन, लॉकडाउन ने जब उसके स्वाभिमान को ठेस पहुंचाई तो मजबूर पिता के लिए उसने दुनियाभर को खुद पर चर्चा करने के लिए मजबूर कर दिया। आज उसके साहस, जज्बे और जुनून को दुनिया के सबसे ताकतवर देश अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ट ट्रंप की बेटी इंवाका ने भी सलाम किया है। वहीं बिहार शिक्षा अधिकारी खुद पहुंचे हैं उसे एडमिशन देने के लिए और नौवीं में दाखिला देने के साथ ही नई साइकिल, दो सेट डे्रस, बैग और किताबें उसे दी गई हैं।
यहां बता दें कि लॉकडाउन के बीच अपने बीमार पिता को गुरुग्राम से दरभंगा के अपने सिरहुल्ली गांव तक साइकिल से लेकर ज्योति पहुंची थी। 12 सौ किलोमीटर साइकिल चलाने की खबर मीडिया में आई तो हर किसी ने उसकी मेहनत को सलाम किया। इसके बाद दरभंगा के शिक्षा अधिकारी उसके घर पहुंचे। इस दौरान बिहार शिक्षा परियोजना परिषद के राज्य परियोजना पदाधिकारी संजय सिंह मुख्यालय से सिरहुल्ली गांव गयी टीम के साथ ऑनलाइन जुड़े रहे। अफसरों की टीम ने ज्योति को शिक्षा विभाग की ओर से एक नयी साइकिल, दो जोड़ी पोशाक, जूता-मोजा, स्कूल बैग एवं 9वीं कक्षा के पाठ्यपुस्तकों का एक सेट ज्योति को भेंट किया, ताकि वह अपनी आगे की पढ़ाई जारी रख सके। इधर ज्योति की कहानी को इवांका ट्रंप ने ट्विटर पर साझा करने के साथ ही उसके साहस की तारीफ की है।

 

दो साल पहले छोड़ दी थी पढ़ाई।
उसने वर्ष 2017 में मध्य विद्यालय सिरहुल्ली से आठवीं की पढ़ाई पूरी की थी, लेकिन आर्थिक हालात ठीक नहीं होने की वजह से वह पढ़ाई को आगे जारी नहीं रख सकी और पिता के साथ गुरुग्राम चली गई थी। यहीं परिवार के साथ रह रही थी। शिक्षाा विभाग से सम्मान मिलने के बाद चिल्ड्रेन वेलफेयर एसोसिएशन की तरफ से भी उसे 51 सौ रुपये का इनाम देकर सम्मानित किया गया है।

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest News

करीना कपूर, रणबीर कपूर, करण जौहर बॉलीवुड की ‘गॉसिप गर्ल्स’ हैं, अनन्या पांडे का खुलासा

जैसे की हम सभी जानते हैं की देश मैं अभी कोरोना काल चल रहा है इस कोरोना काल के...

अर्जुन कपूर हेरा फेरी में रणवीर सिंह के साथ अभिनय करना चाहते हैं

आपको तो पता होगा की रणबीर सिंह और अर्जुन कपूर बॉलीवुड मैं बोहोत अच्छे दोस्त माने जाते हैं। इस भाग-दौड़ भरी और व्यस्त ज़िन्दगी...

मुजफ्फरपुर स्टेशन के जिस बच्चे का वीडियो वायरल हुआ था, शाहरुख करेंगे उसकी मदद

जैसे की हम सभी जानते हैं की इस समय पूरा देश कोरोना नामक वैश्विक बीमारी से जूझ रहा है और वहीँ दूसरी और कई...

Happy Marriage Anniversary अमिताभ ने खोला राज बोले, इसलिए करनी पड़ी थी फटाफट शादी

  Happy Marriage Anniversary : सुपरस्टार अमिताभ बच्चन और जया बच्चन की शादी को 47 साल पूरे हो गए हैं । 3 जून 1973 को...

आदेश गुप्ता के गुरसाहयगंज से दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष तक के सफर की यह है पूरी कहानी

कोरोना काल में क्रिकेट खेलने वाले भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी आखिर व्यापारी वर्ग के रीड कहे जाने वाले दिल्ली के पूर्व महापौर आदेश गुप्ता...
- Advertisement -