महिला के बाद अब छात्राएं बोलीं, एनसीसी परेड़ में प्रिंसिपल करते हैं गंदी बात

0
96

श्यामजी मिश्रा

सिकंदरपुर । सिकंदरपुर इंटर कालेज में महिला से छेड़छाड़ का मामला सामने आने के बाद अब कालेज की छात्राओं ने भी प्रिंसिपल पर गंदी हरकतें करने का आरोप लगाया है। इसके बाद अब क्षेत्र में प्रिंसिपल के खिलाफ गुस्सा बढ़ता ही जा रहा है।
यहां बता दें कि सिंकदरपुर इंटर कालेज की एक चतुर्थ श्रेणी महिला ने कालेज के प्रधानाचार्य के खिलाफ छेड़छाड़ करने का दो दिन पहले केस दर्ज कराया था। इसके बाद क्षेत्र में प्र्रिसिपल के खिलाफ लोगों में जबर्दस्त गुस्सा हैं। हालांकि प्रिंसिपल ने महिला पर काम नहीं करने और डांटने पर झूठा केस दर्ज कराने का आरोप लगाया है। इसी बीच कालेज के कुछ छात्राओं ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि पिं्रसिपल साहब एनसीसी परेड के दौरान गलत तरीके से उन्हें छूते हैं, छात्राओं ने जब इसका विरोध किया तो प्रिंसिपल ने उन्हें कालेज से बाहर निकाल देने की धमकी दी। यही नहीं आरोप है कि प्रिंसिपल कहते हैं कि एनसीसी परेड के दौरान वह किसी भी छात्र और छात्रा को कहीं भी छूने का अधिकार रखते हैं। यदि किसी को आपत्ति है तो वह दूसरे कालेज में दाखिला ले लें।, प्रधानाचार्य की हरकतों से क्षुब्ध छात्राओं ने कालेज में महिला एनसीसी टीचर की मांग भी उठाई है। इधर पुलिस ने बताया कि महिला द्वारा दर्ज कराए गए केस की जांच की जा रही है, इसमें सत्यता पाए जाने पर प्रिंसिपल के खिलाफ कार्यस्थल पर महिला उत्पीडऩ व छेड़छाका का केस चलाया जाएगा। साथ ही उन्होंने कहा कि जांच पड़ताल के दौरान कालेज की छात्राओं से भी पूछताछ की जाएगी यदि प्रिंसिपल के खिलाफ इस तरह की शिकायत मिलती है तो नियमानुसार कार्रवाई करेंगे। वहीं दूसरी ओर जिला शिक्षाअधिकारी का कहना है कि महिला से छेड़छाड़ का मामला मीडिया के माध्यम से उनके संज्ञान में आया है। मामले की विभागीय जांच भी कराई जाएगी, ताकि सच्चाई का पता चल सके। यदि प्रिंसिपल के खिलाफ लगाए गए आरोप सही पाए जाते हैं तो आवश्यक कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। इधर प्रिसिंपल के रवैये की जानकारी मिलने के बाद कालेज में पढऩे वाली छात्राओं के अभिभावकों और क्षेत्र के समाज सेवी संगठनों में गुस्सा है, उनका कहना है कि यदि जल्द ही प्रिंसिपल के खिलाफ कड़े कदम नहीं उठाए गए तो वह जिलाधिकारी से मामले की शिकायत करेंगे। इसके बाद भी यदि कार्रवाई नहीं हुई तो प्रिंसिपल को हटाए जाने के लिए धरना प्रदर्शन भी किया जाएगा।

और पढ़ें:   देवरिया कांड से सख्त हुई योगी सरकार, राज्यभर के संरक्षण गृहों की हो रही जांच

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here