Baghdad में हमले के बाद अमेरिका ने कहा ढूंढकर खत्म करेंगे हमलावर

Must Read

क्या पत्रकारिता दिवस मनाना औचित्य मात्र रह गया है…..

हर साल 30 मई को पत्रकारिता दिवस मनाया जाता है l जिसका मुख्य उद्देश्य समाज को पत्रकारिता के मूल...

यूपी सरकार ने आम की होम डिलीवरी की शुरू की व्यवस्था, अब घर बैठे उठाएं आम का लुत्फ

प्रदेश में भी अब ऑनलाइन बुक कर बागों से सीधे डोर स्टेप पर आप ताजे रसीले आम मंगा सकेंगे।...

Love story का दुखद अंत: प्रेमिका की हत्या के बाद प्रेमी बोला मुझे भी मार दो, लड़की के बाप ने उसे भी मार दी...

  उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले की पुलिस ने प्रेमी-प्रेमिका की मौत के मामले में सनसनीखेज खुलासा किया है। लड़की...
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली । इरानी कमांडर के मारे जाने के बाद से खाड़ी में तनाव तेजी से बढ़ गया है। अब इराक की राजधानी बगदाद में अल बलाद एयरबेस पर रॉकेट और मोर्टार से हमले हुए हैं। माना जा रहा है कि यह हमले ईरान ने पलटवार करते हुए किए हैं। हालांकि अभी तक इसकी पुष्टि नहीं हो सकी है, लेकिन इतना तय है कि अमेरिका और ईरान के बीच तनाव चरम पहुंच चुका है, जो कभी भी भीषण युद्ध के रूप में भी सामने आ सकता है। यहां बता दें कि शुक्रवार को अमेरिकी ड्रोन हमले में ईरान के शीर्ष कमांडर मेजर जनरल ककासिम सुलेमानी की मौत हो गई थी। इसके बाद अगले ही दिन यह हमले हुए हैं, जिसमें पांच लोगों के घायल होने की खबर भी आ रही है। इधर डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान को कड़ी चेतावनी देते हुए धमकी दी है। जिसमें कह है कि बगदाद में अमेरिकी बेस पर हमला करने वालों को ढूंढकर खत्म कर दिया जाएगा। माना जा रहा है कि ईरान के 52 ठिकानों पर अमेरिका की नजर है।
सुरक्षा व्यवस्था से जुड़े सूत्रों के मुताबिक यह हमले इराक के ग्रीन जोन में हुए हैं, जिसे बगदाद का बेहद सुरक्षित इलाका माना जाता है। यहीं पर अमेरिकी दूतावास स्थित है।
इराकी सेना का कहना है कि एक मोर्टार ग्रीन जोन एंक्लेव के परिसर में और दूसरा इसके नजदीक फटा। विस्फोट के तुरंत बाद वहां चारों ओर सायरन की आवाज गूंजने लगी थी। इराकी सेना ने बताया कि मोर्टार हमले के बाद बगदाद के उत्तर में स्थित अल-बलाद एयरबेस पर रॉकेट दागे गए। इस एयरबेस पर अमेरिकी सैनिकों का ठिकाना है। सूत्रों का कहना है कि हमले के तुरंत बाद एयरबेस के चारों ओर निगरानी ड्रोन उड़ान भरने लगे थे। इस बीच, इराक के लड़ाकों ने अपने देश के सैनिकों को अमेरिकी सैन्य बेस से दूर रहने को कहा है। कतैब हिजबुल्ला मिलीशिया ने चेतावनी देते हुए कहा, ‘रविवार शाम से इराकी सैनिक अमेरिकी सैन्य बेस से कम से कम हजार मीटर दूर रहें।Ó इराक में अमेरिकी दूतावास और करीब 5,200 अमेरिकी सैनिकों को हाल के दिनों में कई बार हमलों का सामना करना पड़ा है। अमेरिका इन हमलों के लिए ईरान को जिम्मेदार ठहराता है।
इधर अमेरिका ने सुलेमानी की मौत को उचित ठहराने का प्रयास किया है। साथ ही कहा कि लंदन और भारत में हुए आतंकी हमलों में सुलेमानी का हाथ था। अमेरिका का कहना है कि सुलेमानी एक सनकी कमांडर था, जिसके पागलपन की वजह से कई निर्दोष लोगों की जान जा चुकी है। ऐसे व्यक्ति का मारा जाना ही उचित था। हालांकि, इस हमले के बाद चीन की कड़ी प्रतिक्रिया सामने आई है।

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest News

क्या पत्रकारिता दिवस मनाना औचित्य मात्र रह गया है…..

हर साल 30 मई को पत्रकारिता दिवस मनाया जाता है l जिसका मुख्य उद्देश्य समाज को पत्रकारिता के मूल...

यूपी सरकार ने आम की होम डिलीवरी की शुरू की व्यवस्था, अब घर बैठे उठाएं आम का लुत्फ

प्रदेश में भी अब ऑनलाइन बुक कर बागों से सीधे डोर स्टेप पर आप ताजे रसीले आम मंगा सकेंगे। यह सुविधा अगले सप्ताह से...

Love story का दुखद अंत: प्रेमिका की हत्या के बाद प्रेमी बोला मुझे भी मार दो, लड़की के बाप ने उसे भी मार दी...

  उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले की पुलिस ने प्रेमी-प्रेमिका की मौत के मामले में सनसनीखेज खुलासा किया है। लड़की के पिता ने ही दोनों...

सतपुली कॉलेज से हुआ National Webinar, देशभर के लोगों ने रखे विचार

पौड़ी-गढ़वाल-राजकीय महाविद्यालय सतपुली तथा विद्या अभिकल्पन मनोवैज्ञानिक शोध संस्था हल्द्वानी के संयुक्त तत्वावधान में एक राष्ट्रीय वेबिनार PROBLEMS FACING BY ADOLESCENTS DURING COVID-19 विषय...

नाला खुदाई के दौरान मिला 3 साल पहले MISSING युवक का कंकाल, AADHAR से हुई पहचान

उत्तर प्रदेश के जिला मैनपुरी के किशनी में उस वक्त सनसनी मच गई जब नाला निर्माण के लिए चल रही खुदाई के दौरान उसमें...
- Advertisement -