इस state में फिर बंद हुई शराब की बिक्री, जानिए क्या है कारण

Must Read

क्या पत्रकारिता दिवस मनाना औचित्य मात्र रह गया है…..

हर साल 30 मई को पत्रकारिता दिवस मनाया जाता है l जिसका मुख्य उद्देश्य समाज को पत्रकारिता के मूल...

यूपी सरकार ने आम की होम डिलीवरी की शुरू की व्यवस्था, अब घर बैठे उठाएं आम का लुत्फ

प्रदेश में भी अब ऑनलाइन बुक कर बागों से सीधे डोर स्टेप पर आप ताजे रसीले आम मंगा सकेंगे।...

Love story का दुखद अंत: प्रेमिका की हत्या के बाद प्रेमी बोला मुझे भी मार दो, लड़की के बाप ने उसे भी मार दी...

  उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले की पुलिस ने प्रेमी-प्रेमिका की मौत के मामले में सनसनीखेज खुलासा किया है। लड़की...
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

Deharadoon. लॉक डाउन में बंद चल रही शराब दुकानें जैसे-तैसे खुली थी लेकिन अब उत्तराखंड में फिर से इन दुकानों पर अनिश्चित काल के लिए प्रतिबंध लगने जा रहा है। शराब ठेकेदारों की शनिवार को अपनी मांगों लेकर आबकारी विभाग से वार्ता की जो बेनतीजा रही। जिसके बाद शराब दुकानों की बन्द करने का फैसला ले लिया गया। देर रात दुकानों के बाहर पोस्टर भी चस्पा कर दिए गए।

शराब ठेकेदारों ने बताया कि लॉक डाउन में कारोबार को तगड़ा नुकसान हुआ है। ऐसे में पिछले साल से करीब 40 प्रतिशत ज्यादा कोटा बेचने की बाध्यता है। इसको ठेकेदार पूरी नहीं कर सकते। शराब के बड़े कारोबारी रामकुमार जायसवाल के मुताबिक, आबकारी के संयुक्त आयुक्त से इस संम्बध में लंबी वार्ता हुई लेकिन उनकी मांगों पर कोई हल नहीं निकला।

 

वार्ता के बाद शराब ठेकेदारों ने बताया कि अब उनके पास बंदी के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा है। बताया कि पिछले साल जो कोटा मुश्किल से बिका था। इस बार सरकार ने उसको 40 प्रतिशत तक बढ़ा दिया है। लॉक डाउन में दुकान बंदी की वजह से पहले ही भारी नुकसान हुआ। अब इस बाध्यता को पूरा कर पाना नामुमकिन है।

शराब ठेकेदारों की ये हैं मांगे

  • कोविड टैक्स हटाया जाए
  • मार्च या उस से पहले का जो स्टॉक ना उठा हो उसका रिफंड मिले
  • नवीनीकरण दुकानों में अवशेष स्टॉक अधिभार का रिफंड मिले
  • शराब और बियर पर लाभ 25 प्रतिशत कर दिया जाए
  • लॉक डाउन में नवीनीकरण फीस और लाइसेंस फीस माफ की जाए
  • शराब कारोबारियों पर दर्ज मुकदमे वापस हों
- Advertisement -
- Advertisement -

Latest News

क्या पत्रकारिता दिवस मनाना औचित्य मात्र रह गया है…..

हर साल 30 मई को पत्रकारिता दिवस मनाया जाता है l जिसका मुख्य उद्देश्य समाज को पत्रकारिता के मूल...

यूपी सरकार ने आम की होम डिलीवरी की शुरू की व्यवस्था, अब घर बैठे उठाएं आम का लुत्फ

प्रदेश में भी अब ऑनलाइन बुक कर बागों से सीधे डोर स्टेप पर आप ताजे रसीले आम मंगा सकेंगे। यह सुविधा अगले सप्ताह से...

Love story का दुखद अंत: प्रेमिका की हत्या के बाद प्रेमी बोला मुझे भी मार दो, लड़की के बाप ने उसे भी मार दी...

  उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले की पुलिस ने प्रेमी-प्रेमिका की मौत के मामले में सनसनीखेज खुलासा किया है। लड़की के पिता ने ही दोनों...

सतपुली कॉलेज से हुआ National Webinar, देशभर के लोगों ने रखे विचार

पौड़ी-गढ़वाल-राजकीय महाविद्यालय सतपुली तथा विद्या अभिकल्पन मनोवैज्ञानिक शोध संस्था हल्द्वानी के संयुक्त तत्वावधान में एक राष्ट्रीय वेबिनार PROBLEMS FACING BY ADOLESCENTS DURING COVID-19 विषय...

नाला खुदाई के दौरान मिला 3 साल पहले MISSING युवक का कंकाल, AADHAR से हुई पहचान

उत्तर प्रदेश के जिला मैनपुरी के किशनी में उस वक्त सनसनी मच गई जब नाला निर्माण के लिए चल रही खुदाई के दौरान उसमें...
- Advertisement -