शरजील की मां बोली, मेरा भी मानवाधिकार है, पुलिस न करे परेशान

0
103

 

एक वीडियो को लेकर कानून के शिकंजे में फंसे शरजील इस्लाम पर बिहार में भी देशद्रोह का केस दर्ज कर लिया गया है। इससे पहले नई दिल्ली में वीडियो के आधार पर उनके खिलाफ राजद्रोह का केस दर्ज किया गया था। शरजील पर आरोप है कि उन्होंने असम को भारत से अलग करने के लिए साजिश रची है। इससे पहले उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में भी उनके खिलाफ राजद्रोह का केस दर्ज हो चुका है। यहां बता दें कि यह मामला दर्ज होने के बाद से शरजील फरार चल रहा है। जिसकी गिरफ्तारी को लेकर पुलिस लगातार उसकी तलाश में जुटी हुई है। इधर शरजील की मां ने कहा है कि मेरा भी मानवाधिकार है, पुलिस को परिवार के सदस्यों को बेवजह परेशान करने से रोका जाए।

क्या है मामला
यहां बता दें कि सीएए कानून लागू होने के बाद से लगातार मुस्लिम समुदाय के साथ ही जेएनयू और जामिया मिल्लिया के छात्र भी धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। इसी कड़ी में आरोप है कि शरजील इस्लाम भी लगातार जामिया मिल्लिया, जेएनयू और शाहीन बाग में इस तरह के भड़काऊ भाषण दे रहा है। आरोप है कि कुछ दिन पूर्व उसने ऐसा ही एक भड़काऊ भाषण है। जिसमें मुस्लिम समुदाय के कटटरपंथी लोगों को एकजुट होकर असम को भारत से अलग करने का बयान दिया गया। उसका यह बयान सोशल मीडिया पर तेजी के साथ वायरल हो रहा है। इसके आधार पर उसके खिलाफ दिल्ली, अलीगढ़ के बाद बिहार में मुकदमा दर्ज किया गया है। मुकदमें में उस पर देश द्रोह के साथ ही भड़काऊ भाषण भी देने की धाराएं लगाई गई हैं। यहां बता दें कि शरजील मूल रूप से बिहार का रहने वाला है। यहां जेएनयू में वह पीएचडी कर रहा है। उसकी लास्ट लोकेशन बिहार के जहानाबाद में मिली है।

और पढ़ें:   सासा राम में लुटेरे को पीट-पीटकर मार डाला 

शरजील की मां ने दी मानवाधिकार की दुहाई देकर की पुलिस से बचाने की मांग

जहानाबाद पुलिस के पूछताछ करने के बाद शरजील की मां ने सफाई देते हुए मानवाधिकारों की दुहाई दी है। उन्होंने कहा है कि उनका बेटा निर्दोष है और उसे बेवजह फंसाया गया है। यही नहीं उन्होंने धमकियां दिए जाने के साथ ही पुलिस पर परेशान करने का भी आरोप लगाया है। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि उन्हें देश की न्याय व्यवस्था और कानून पर पूरा भरोसा है। यदि बेटे तो कानून अपना काम करे लेकिन परिवार के सदस्यों को परेशान नहीं किया जाना चाहिए।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here