राहुल गांधी राज्यों में भी नागरिकता कानून को लेकर हो रहे विरोध प्रदर्शनों को देंगे धार

Must Read

करीना कपूर, रणबीर कपूर, करण जौहर बॉलीवुड की ‘गॉसिप गर्ल्स’ हैं, अनन्या पांडे का खुलासा

जैसे की हम सभी जानते हैं की देश मैं अभी कोरोना काल चल रहा है इस कोरोना काल के...

अर्जुन कपूर हेरा फेरी में रणवीर सिंह के साथ अभिनय करना चाहते हैं

आपको तो पता होगा की रणबीर सिंह और अर्जुन कपूर बॉलीवुड मैं बोहोत अच्छे दोस्त माने जाते हैं। इस...

मुजफ्फरपुर स्टेशन के जिस बच्चे का वीडियो वायरल हुआ था, शाहरुख करेंगे उसकी मदद

जैसे की हम सभी जानते हैं की इस समय पूरा देश कोरोना नामक वैश्विक बीमारी से जूझ रहा है...
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली । नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ देशभर में जारी विरोध आंदोलनों को कांग्रेस का पूरा समर्थन होने का संदेश देने के लिए पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी असम में 28 दिसंबर को एक रैली करेंगे। गुवाहाटी में होने वाली इस रैली के जरिये राहुल कांग्रेस के इस मुद्दे पर विरोध को दिल्ली से बाहर राज्यों में ले जाने की आधिकारिक शुरुआत करेंगे। वहीं, पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा 28 दिसंबर को लखनऊ में कांग्रेस के स्थापना दिवस आयोजन में शरीक होंगी और उत्तर प्रदेश में सीएए विरोधी आंदोलन में शामिल होने वाले लोगों पर पुलिस की कथित दमनात्मक कार्रवाई का मुद्दा उठाएंगी।असम में कांग्रेस की सीएए विरोध रैली में राहुल गांधी के शामिल होने की पुष्टि पार्टी की ओर से कर दी गई है। सीएए को विभाजनकारी बता रही कांग्रेस राजग सरकार पर इसे वापस लेने का दबाव बनाने के लिए विरोध प्रदर्शनों के जारी रहने को जरूरी मान रही है। इसीलिए राष्ट्रीय स्तर पर राजनीतिक विरोध के अलावा राज्यों में जमीनी स्तर पर इसके खिलाफ पार्टी की सक्रियता बढ़ाने का फैसला लिया गया है। महात्मा गांधी की समाधि राजघाट पर कांग्रेस ने सीएए के खिलाफ अपने सबसे बड़े विरोध प्रदर्शन का सोमवार को आयोजन किया था जिसमें सोनिया गांधी, राहुल और प्रियंका समेत पार्टी के सभी दिग्गज शामिल हुए थे। अब इसी रणनीति के तहत राहुल असम में सीएए विरोध रैली को संबोधित करेंगे। मालूम हो कि सीएए के खिलाफ असम में शुरुआत में काफी ङ्क्षहसक विरोध हुए। अभी भी सूबे में सबसे ज्यादा मुखर आंदोलन हो रहे हैं, जिसमें वहां के सभी समुदायों के लोग शामिल हो रहे हैं। राज्य के लोग सीएए को असम समझौते के खिलाफ बताते हुए इससे अपनी भाषा और संस्कृति के लिए खतरा मान रहे हैं। असम प्रदेश कांग्रेस भी विरोध प्रदर्शनों को अपना पूरा समर्थन दे रही है। असम के अलावा आने वाले दिनों में राहुल समेत कांग्रेस के शीर्ष नेता अलग-अलग राज्यों में सीएए विरोधी मुहिम को आगे बढ़ाएंगे।

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest News

करीना कपूर, रणबीर कपूर, करण जौहर बॉलीवुड की ‘गॉसिप गर्ल्स’ हैं, अनन्या पांडे का खुलासा

जैसे की हम सभी जानते हैं की देश मैं अभी कोरोना काल चल रहा है इस कोरोना काल के...

अर्जुन कपूर हेरा फेरी में रणवीर सिंह के साथ अभिनय करना चाहते हैं

आपको तो पता होगा की रणबीर सिंह और अर्जुन कपूर बॉलीवुड मैं बोहोत अच्छे दोस्त माने जाते हैं। इस भाग-दौड़ भरी और व्यस्त ज़िन्दगी...

मुजफ्फरपुर स्टेशन के जिस बच्चे का वीडियो वायरल हुआ था, शाहरुख करेंगे उसकी मदद

जैसे की हम सभी जानते हैं की इस समय पूरा देश कोरोना नामक वैश्विक बीमारी से जूझ रहा है और वहीँ दूसरी और कई...

Happy Marriage Anniversary अमिताभ ने खोला राज बोले, इसलिए करनी पड़ी थी फटाफट शादी

  Happy Marriage Anniversary : सुपरस्टार अमिताभ बच्चन और जया बच्चन की शादी को 47 साल पूरे हो गए हैं । 3 जून 1973 को...

आदेश गुप्ता के गुरसाहयगंज से दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष तक के सफर की यह है पूरी कहानी

कोरोना काल में क्रिकेट खेलने वाले भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी आखिर व्यापारी वर्ग के रीड कहे जाने वाले दिल्ली के पूर्व महापौर आदेश गुप्ता...
- Advertisement -