पांच सौ से अधिक बेवसाइट खंगालीं तब निर्भया के कातिलों तक पहुंचा फांसी का फंदा

Must Read

करीना कपूर, रणबीर कपूर, करण जौहर बॉलीवुड की ‘गॉसिप गर्ल्स’ हैं, अनन्या पांडे का खुलासा

जैसे की हम सभी जानते हैं की देश मैं अभी कोरोना काल चल रहा है इस कोरोना काल के...

अर्जुन कपूर हेरा फेरी में रणवीर सिंह के साथ अभिनय करना चाहते हैं

आपको तो पता होगा की रणबीर सिंह और अर्जुन कपूर बॉलीवुड मैं बोहोत अच्छे दोस्त माने जाते हैं। इस...

मुजफ्फरपुर स्टेशन के जिस बच्चे का वीडियो वायरल हुआ था, शाहरुख करेंगे उसकी मदद

जैसे की हम सभी जानते हैं की इस समय पूरा देश कोरोना नामक वैश्विक बीमारी से जूझ रहा है...
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली । 2012 में निर्भया के साथ हुई दरिंदगी की दास्तों किसी के भी रोंगटे खड़े कर देने के लिए काफी है। इन दरिंदों ने न सिर्फ सामूहिक दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया था, बल्कि मानसिक यातना देने में भी कोई कसर नहीं छोड़ी थी। उसके शरीर पर जगह-जगह जानवरों की तरह काटे जाने के निशान मिले थे, जो बहशियत की दास्तां को बयां करने के लिए काफी हैं। अब उसे न्याय मिलने जा रहा है और इन दरिंदों के लिए तिहाड़ जेल में फांसी का फंदा तैयार हो गया है। इन्हें मौत के फंदे तक पहुंचाना कितना मुश्किल था। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि पड़ताल के दौरान दिल्ली पुलिस की टीम ने क्राइम केस इन्वेस्टिगेशन की 500 से अधिक वेबसाइटों को खंगाला था।
जांच कर रही टीम से जुड़े सूत्रों के मुताबिक निर्भया के शरीर पर दांत काटने के कई निशान थे, ऐसा लग रहा था मानों जानवरों ने नोंच डाला हो। इसे अहम सुबूत बनाना था। दांतों के जरिए इंसान की पहचान करने की कला को फॉरेंसिक डेंटिस्ट्री कहते हैं। फिर इस साइंस के वैज्ञानिकों की मदद ली गई। दांतों के निशान की फोटो और पकड़े गए आरोपियों के दांतों के साइज फरेंसिक लैब भेजे गए। जांच के लिए प्लास्टर ऑफ पेरिस से दांतों का जबड़ा बनवाया गया और उसकी फोटो खींची गई। चार आरोपियों में से दो आरोपी, विनय और अक्षय के दांतों के निशान निर्भया के शरीर पर पड़े निशानों से मेल खा गए। यह सुबूतों की अहम कड़ी थी। डीसीपी से लेकर कांस्टेबल तक, 41 पुलिसकर्मियों की टीम निर्भया केस के मामले की जांच के लिए जुटी थी।  दिल्ली पुलिस की टीम ने तहकीकात के लिए विदेशी जांच एजेंसियों से भी एविडेंस जुटाने में मदद ली। यही वजह है कि कातिलों को बचने की गुंजाइश नहीं मिली।
जांच से जुड़े अफसर के मुताबिक, उस दौरान टीम में 100 से अधिक पुलिसकर्मी आरोपियों की धरपकड़ से लेकर सबूत जुटाने के लिए लगाए गए। जिस बस में वारदात हुई उसे तलाशना मुश्किल था। इसके लिए सबसे पहले करीब 250 बस की लिस्ट बनाई। तीन चार टीम बसों के रूट व उनकी पहचान में लगाई। सभी का काम बांट दिया था। सीसीटीवी फुटेज खंगाले, पर इससे ज्यादा मदद नहीं मिली। बार-बार फुटेज देखने से बस पर यादव लिखा हुआ टीम के कई सदस्यों ने पढ़ा। क्लू और सर्च के लिए लाइन मिली। पुलिस ने एक हफ्ते के अंदर न सिर्फ सभी आरोपितों को पकड़ लिया। बल्कि महज 19 दिन के अंदर कोर्ट में 1000 पन्नों की चार्जशीट भी पेश कर दी।
परिस्थितिजन्य साक्ष्य के लिए सबसे पहले निर्भया का एटीएम कार्ड, उसके कपड़े, दोस्त का पर्स, जूते, मोबाइल, घड़ी जैसी तमाम चीजें मौका ए वारदात से इकठ्ठा कीं। फिर फिजिकली साक्ष्य के लिए वो बस थी, जिसे मुजरिमों ने धो डाला था, उसमें फिंगर प्रिंट हासिल किया, लड़की के ब्लड व सीट के कपड़ों से लेकर फर्श में गिरे एक एक बाल को उठाया। सबूतों का तीसरा चरण डीएनए एविडेंस था। जिसमें सजा के लिए हर मुल्जिम का बॉडी टू बॉडी डीएनए। लार से भी डीएनए जेनरेट किया। नाखूनों के अंदर लड़की की चमड़ी भी जुटाई। चौथे चरण में पहली भारत में यूज की गई फॉरेंसिक डेंटिस्ट्री थी। जिसमें ऑडोंटोलॉजी के जरिए दांतों व जबड़े के आकार। उनका डीएनए। उसके आधार पर अपराधी का मिलान किया। तहकीकात का पांचवां पड़ाव टेक्निकल एविडेंस। जिसमें हर मुल्जिम के मोबाइल की लोकेशन, उसकी सीडीआर, मूवमेंट के एक एक सेकंड को टेक्निकल एनालिसिस के जरिए जुटाया।

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest News

करीना कपूर, रणबीर कपूर, करण जौहर बॉलीवुड की ‘गॉसिप गर्ल्स’ हैं, अनन्या पांडे का खुलासा

जैसे की हम सभी जानते हैं की देश मैं अभी कोरोना काल चल रहा है इस कोरोना काल के...

अर्जुन कपूर हेरा फेरी में रणवीर सिंह के साथ अभिनय करना चाहते हैं

आपको तो पता होगा की रणबीर सिंह और अर्जुन कपूर बॉलीवुड मैं बोहोत अच्छे दोस्त माने जाते हैं। इस भाग-दौड़ भरी और व्यस्त ज़िन्दगी...

मुजफ्फरपुर स्टेशन के जिस बच्चे का वीडियो वायरल हुआ था, शाहरुख करेंगे उसकी मदद

जैसे की हम सभी जानते हैं की इस समय पूरा देश कोरोना नामक वैश्विक बीमारी से जूझ रहा है और वहीँ दूसरी और कई...

Happy Marriage Anniversary अमिताभ ने खोला राज बोले, इसलिए करनी पड़ी थी फटाफट शादी

  Happy Marriage Anniversary : सुपरस्टार अमिताभ बच्चन और जया बच्चन की शादी को 47 साल पूरे हो गए हैं । 3 जून 1973 को...

आदेश गुप्ता के गुरसाहयगंज से दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष तक के सफर की यह है पूरी कहानी

कोरोना काल में क्रिकेट खेलने वाले भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी आखिर व्यापारी वर्ग के रीड कहे जाने वाले दिल्ली के पूर्व महापौर आदेश गुप्ता...
- Advertisement -