जम्मू-कश्मीर सरकार ने समाप्त किया टोल टैक्स, खजाने पर पड़ेगा 1500 करोड़ का असर

Must Read

यूपी सरकार ने आम की होम डिलीवरी की शुरू की व्यवस्था, अब घर बैठे उठाएं आम का लुत्फ

प्रदेश में भी अब ऑनलाइन बुक कर बागों से सीधे डोर स्टेप पर आप ताजे रसीले आम मंगा सकेंगे।...

Love story का दुखद अंत: प्रेमिका की हत्या के बाद प्रेमी बोला मुझे भी मार दो, लड़की के बाप ने उसे भी मार दी...

  उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले की पुलिस ने प्रेमी-प्रेमिका की मौत के मामले में सनसनीखेज खुलासा किया है। लड़की...

सतपुली कॉलेज से हुआ National Webinar, देशभर के लोगों ने रखे विचार

पौड़ी-गढ़वाल-राजकीय महाविद्यालय सतपुली तथा विद्या अभिकल्पन मनोवैज्ञानिक शोध संस्था हल्द्वानी के संयुक्त तत्वावधान में एक राष्ट्रीय वेबिनार PROBLEMS FACING...
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

नई दिल्ली । जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने मंगलवार को जम्मू-पठानकोट राजमार्ग के साथ लखनपुर में टोल समाप्त करने की घोषणा की है। इस कदम से प्रति वर्ष सरकारी खजाने को 1,500 करोड़ रुपये का नुकसान होगा। नए साल से टोल टैक्स को खत्म करने के फैसले का व्यापारियों ने स्वागत किया है।
इससे पहले 6 फरवरी, 2018 को, तत्कालीन जम्मू-कश्मीर सरकार ने अनंतनाग जिले में जम्मू-श्रीनगर हाईवे के साथ लोअर मुंडा और शोपियां जिले में बोरहालन-हीरपुर में दो बड़े टोल नाकों को समाप्त कर दिया था। आयुक्त अरुण कुमार मेहता ने बताया कि यह आदेश एक जनवरी से लागू हो गया है।

संवाददाता सम्मेलन में इस निर्णय की घोषणा करते हुए, प्रमुख सचिव, नियोजन, निगरानी और विकास रोहित कंसल ने कहा कि सरकार ने विभिन्न हितधारकों के साथ बातचीत करने और सुधार के लिए उपाय सुझाने के लिए सलाहकार केके शर्मा की अध्यक्षता में एक उच्चाधिकार समिति का गठन करने का निर्णय लिया है। स्थानीय उद्योग की प्रतिस्पर्धा, को देखते हुए जम्मू सरकार ने यह फैसला लिया है। प्रशासन ने एक जनवरी, 2020 से लखनपुर में टोल टैक्स और रेलवे स्टेशनों और हवाई अड्डों सहित अन्य सभी स्थानों पर टोल टैक्स को समाप्त करने का फैसला किया है। टोल टैक्स को समाप्त करने से यूटी कोफर्स को लगभग 1,500 करोड़ रुपये का वार्षिक नुकसान होगा। वहीं समिति
फरवरी में, प्रशासन ने जम्मू और कश्मीर में प्रवेश करने वाले विभिन्न उत्पादों पर लगाए जाने वाले टोल टैक्स के स्तर की जांच करने के लिए एक समिति का गठन किया था, स्थानीय स्तर पर उत्पादित उत्पादों के उत्पादन और निर्यात, यदि कोई हो, जैसा कि टोल टैक्स की लेवी में आवश्यकता हो सकती है।
हालांकि, जम्मू स्थित बारी ब्राह्मण इंडस्ट्रीज एसोसिएशन (बीबीआईए) ने इस फैसले पर गंभीर चिंता जताई, इसे जम्मू-कश्मीर के औद्योगिक क्षेत्र को नष्ट करने का प्रयास करार दिया।

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest News

यूपी सरकार ने आम की होम डिलीवरी की शुरू की व्यवस्था, अब घर बैठे उठाएं आम का लुत्फ

प्रदेश में भी अब ऑनलाइन बुक कर बागों से सीधे डोर स्टेप पर आप ताजे रसीले आम मंगा सकेंगे।...

Love story का दुखद अंत: प्रेमिका की हत्या के बाद प्रेमी बोला मुझे भी मार दो, लड़की के बाप ने उसे भी मार दी...

  उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले की पुलिस ने प्रेमी-प्रेमिका की मौत के मामले में सनसनीखेज खुलासा किया है। लड़की के पिता ने ही दोनों...

सतपुली कॉलेज से हुआ National Webinar, देशभर के लोगों ने रखे विचार

पौड़ी-गढ़वाल-राजकीय महाविद्यालय सतपुली तथा विद्या अभिकल्पन मनोवैज्ञानिक शोध संस्था हल्द्वानी के संयुक्त तत्वावधान में एक राष्ट्रीय वेबिनार PROBLEMS FACING BY ADOLESCENTS DURING COVID-19 विषय...

नाला खुदाई के दौरान मिला 3 साल पहले MISSING युवक का कंकाल, AADHAR से हुई पहचान

उत्तर प्रदेश के जिला मैनपुरी के किशनी में उस वक्त सनसनी मच गई जब नाला निर्माण के लिए चल रही खुदाई के दौरान उसमें...

RBSE : राजस्थान में दसवीं व 12वीं की परीक्षा के लिए निर्देश जारी

  वैश्विक महामारी के चलते सरकार ने सभी १०वी और १२वी की परीक्षाओं को रद कर दिया था। राजस्थान बोर्ड ने 10 और 12 की...
- Advertisement -