Aarogya Setu : कोरोना के संक्रमण से बचाएगा

Must Read

दादी के दम से चौंक गई दुनिया, कोबरा को पूँछ पकड़ कर फेंका

सोशल मीडिया पर वायरल हुई दादी की वीडियो को बहुत पसंद किया जा रहा है| 2 लाख से भी...

1 जून से बदल जाएंगे रेलवे, LPG, राशन कार्ड और विमान सेवा से जुड़े ये 5 नियम

जैसे की हम सभी जानते हैं की चौथा lockdown भी खत्म होने वाला है,और 31 मई को चौथा lockdown...

Mansoon 2020: 1 जून को भारत में दस्तक देगा मानसून, मौसम विभाग ने जताई संभावना

भारतीय मौसम विभाग के वैज्ञानिकों ने अनुमान लगाया है कि 1 जून को देश के केरल राज्य में दक्षिण...
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

दुनिया भर में तबाही मचा रहे कोरोना वायरस से जंग के लिए भारत सरकार ने एक मजबूत हथियार की तलाश की है, जो ना सिर्फ कोरोना के खतरे को पहचानेगा बल्कि 6 मीटर की दूरी से ही कोरोना संक्रमित के बारे में आगाह भी कर देगा। दर्शक केंद्र सरकार ने एक ऐसे ऐप को विकसित कराया है, जो करोना के मरीज के
संपर्क में आते ही 6 मीटर पहले से ही नोटिफिकेशन दे देगा। इस ऐप को आरोग्य सेतु नाम दिया गया है। खास बात यह है कि कोरोना संक्रमित व्यक्ति के नजदीक आते ही यह यूजर के साथ ही सरकारी एजेंसियों को भी सूचना दे देगा। जिससे कि संबंधित व्यक्ति का उपचार किया जा सकेगा। इस ऐप को 11 भाषाओं में तैयार किया गया है और एप्पल वा गूगल के प्लेटफार्म पर मौजूद है । स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि कोरोना से जंग में सबसे बड़ी समस्या यह है कि संक्रमित व्यक्ति को आखिर पहचाना कैसे जाए। ं। अदृश्य दुश्मन जब तक मरीज में दिखाई देता है तब तक काफी घातक रूप रख चुका होता है और कई लोगों को अपनी चपेट में ले चुका होता है। ऐसे में केंद्र सरकार ने सबसे पहले इसकी पहचान करने के तरीकों की लिए शोध शुरू करवाया है। इसी कड़ी में इस ऐप का निर्माण किया गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय का दावा है कि यह एप कोरोना की हर तरह की समस्याओं का हल है, मोबाइल में डाउनलोड होने के बाद यदि कोई कोरोना संक्रमित यूजऱ के 6 मीटर की दूरी से भी गुजरता है तो यह बता दे दे देगा। इसके साथ ही एक नोटिफिकेशन सरकारी एजेंसियों के पास भी जाएगा ताकि उस व्यक्ति पर नजर रखी जा सके। इस ऐप में कोरोना पॉजिटिव पाए गए प्रत्येक व्यक्ति का डाटा भी सुरक्षित रखा गया है, जिससे यह व्यक्ति की गतिविधि पर पूरी नजर रखता है। दरअसल ये ऐप ब्लूटूथ के माध्यम से काम करता है, जिससे कि कोरोना संक्रमित के संपर्क में आते ही न सिर्फ उसको पहचान लेता है बल्कि उसकी लोकेशन की भी जानकारी मिलने लगती है।

NBT

(फोटो: द नेक्स्ट वेब)

 

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest News

दादी के दम से चौंक गई दुनिया, कोबरा को पूँछ पकड़ कर फेंका

सोशल मीडिया पर वायरल हुई दादी की वीडियो को बहुत पसंद किया जा रहा है| 2 लाख से भी...

1 जून से बदल जाएंगे रेलवे, LPG, राशन कार्ड और विमान सेवा से जुड़े ये 5 नियम

जैसे की हम सभी जानते हैं की चौथा lockdown भी खत्म होने वाला है,और 31 मई को चौथा lockdown भी खत्म हो जायेगा। ये...

Mansoon 2020: 1 जून को भारत में दस्तक देगा मानसून, मौसम विभाग ने जताई संभावना

भारतीय मौसम विभाग के वैज्ञानिकों ने अनुमान लगाया है कि 1 जून को देश के केरल राज्य में दक्षिण पश्चिम दिशा से मानसून दस्तक...

आखिर सड़क के बीच कार्तिक आर्यन ने क्यों बदले कपड़े?

लॉक डाउन के दौरान भी कार्तिक अपने फंस से जुड़े हुए हैं| सोशल मीडिया पर अपनी तस्वीरों और वीडियो को डालकर वह सुर्खियों में...

अमिताभ बच्चन न अब दान की 20 हजार पीपीई किट, प्रवासियों को भी बसों से किया रवाना

कोरोना वायरस से जंग लड़ रहे देश की साथ बॉलीवुड के कई कलाकार खड़े हो गए हैं । इनमें अक्षय कुमार सोनू सूद सलमान...
- Advertisement -