इनसाइड एज को लेकर विवेक ओबराय ने कर दिया बड़ा खुलासा, जानें क्या है अंदर की कहानी

Must Read

Sapna Chaudhary ने छोरा जाट सा पर किया जबर्दस्त डांस, देखें कैसे दिवानी हुई पबिलक

हरियाणा की देसी डांसर सपना चौधरी के वीडियो वैसे तो सोशल मीडिया पर छाए ही रहते हैं, लेकिन हाल...

सुप्रीम कोर्ट ने कहा, कोरोना की मुफ्त जांच की व्यवस्था करे सरकार

कोरोना से जंग लड़ रहे देशवासियों के लिए शीर्ष अदालत से राहत भरी खबर आई है। सुप्रीम कोर्ट ने...

Aarogya Setu : कोरोना के संक्रमण से बचाएगा

दुनिया भर में तबाही मचा रहे कोरोना वायरस से जंग के लिए भारत सरकार ने एक मजबूत हथियार की...
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

इंटरटेनमेंट डेस्क । विवेक ओबेरॉय को इनसाइड एज के लिए जब एक निर्दयी और शराब के लती व्यक्ति का किरदार दिया गया तो पहले तो कुछ देर वह सोचते रहे फिर डायरेक्टर से कहा कि बेव दुनिया में यह एक बड़ी हिट होने जा रही है। इसी के साथ उन्होंने यह भूमिका स्वीकार कर ली और अमेजन प्राइम की इस सीरीज को जिस तरह से दर्शकों का प्यार मिल रहा है। उसे देखते हुए विवेक का दावा सही भी साबित हुआ है। यह बात खुद विवेक ओबराय ने कही है और वह अपने किरदार से बेहद संतुष्ट हैं।
वह कहते हैं कि इनसाइड एज एक बेहद रोमांचक सीरीज है। इसका दूसरा सीजन छह दिसंबर को लांच हुआ है। ओबराय कहते हैं कि इस सीरीज में शक्ति ही उनका सबसे बड़ा हथियार और किरदार की आत्मा है। पहले सीजन में उनसे यह सब उस गुरु ने छीन लिया था, जिसने उन्हें बनाया था। दूसरे सीजन का जो रोमांच है, वह विक्रांत धवन का अलग तरह का डर है। इसमें वह भय, असुरक्षा व क्रोध है और वह क्रिकेट के मैदान पर अपना वर्चस्व कायम करने के लिए एक घायल शेर की तरह वापसी करता है, जो कि दर्शकों के लिए सुपर रोमांच साबित होने जा रहा है। विवेक कहते हैं कि मेरे किरदार को जिस तरह का प्यार मिला उससे मैं काफी हैरान था। हम इस बार दर्शकों को चिढ़ा रहे थे ताकि उन्हें यह समझ आ सके कि विक्रांत मर चुका है, और वह इस सीजऩ का हिस्सा नहीं है, लेकिन अंतत: प्रोमो के अंत में उसकी आवाज़ सुनी जाती है। मुझे इसके लिए जबरदस्त प्रतिक्रिया मिली। वह ककहते हैं कि विक्रांत धवन की भूमिका के रूप में निगेटिव रोल निभाने के लिए किसी भी तरह के आश्चर्य की बात नहीं है। उन्होंने जो पहली फिल्म गैंगस्टर में भी उन्होंने इसी तरह क निगेटिव किरदार किया था। अब, यह करना ठीक है, लेकिन उस समय, यह एक नहीं था। तब का चलन अलग था। आपको डिजाइनर कपड़े पहनने पड़ते थे, शो-रील की तरह, नए लड़के को अभिनय, नृत्य, एक्शन, रोमांस करना पड़ता है .., आपको एक फिल्म में सब कुछ होना था। इस तरह नए लोगों को वापस लॉन्च किया गया। लेकिन मैंने एक जागरूक फैसला लिया। मैंने इस फिल्म का विकल्प चुना कि मेरे पिता मेरे लिए अब्बास-मस्तान के साथ काम कर रहे थे। मैंने वहाँ जाने का फैसला किया, संघर्ष किया, अलग-अलग कार्यालयों और प्रोडक्शन हाउसों में गए और बस इसे अपने दम पर बनाने की कोशिश की।
विवेक ओबराय कहते हैं कि मुझे किरदार बहुत पसंद था, और रितेश (सिधवानी, निर्माता), फरहान (अख्तर, निर्माता), करण (अंशुमान, शो निर्माता) के लिए मेरी एकमात्र प्रतिक्रिया थी कि इस किरदार को और गहरा करने की जरूरत है। मैंने उस किरदार के लिए हर दृश्य को ठीक-ठीक करने में बहुत मेहनत की

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest News

Sapna Chaudhary ने छोरा जाट सा पर किया जबर्दस्त डांस, देखें कैसे दिवानी हुई पबिलक

हरियाणा की देसी डांसर सपना चौधरी के वीडियो वैसे तो सोशल मीडिया पर छाए ही रहते हैं, लेकिन हाल...

सुप्रीम कोर्ट ने कहा, कोरोना की मुफ्त जांच की व्यवस्था करे सरकार

कोरोना से जंग लड़ रहे देशवासियों के लिए शीर्ष अदालत से राहत भरी खबर आई है। सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को आदेश दिया...

Aarogya Setu : कोरोना के संक्रमण से बचाएगा

दुनिया भर में तबाही मचा रहे कोरोना वायरस से जंग के लिए भारत सरकार ने एक मजबूत हथियार की तलाश की है, जो ना...

corona virus : बेटे को चार कंधे भी नसीब न करा सका बदनसीब बाप

corona virus update ​​​​​दुनिया के हर पिता की यही चाहत होती है कि वह अपने बेटे के कंधे पर श्मशान तक जाए, लेकिन कुछ...

खुद पर आया कोरोना का संकट तो क्वारंटाइन हो गया मौलाना

corona update  : लॉक डाउन को केंद्र सरकार की साजिश बताने वाले मौलाना साद ने खुद को अब कारंटाइन कर लिया है। उनका एक...
- Advertisement -