bhagalpur : अंतिम संस्कार के लिए नहीं थे पैसे तो घर में ही दफना दिया शव

Must Read

क्या पत्रकारिता दिवस मनाना औचित्य मात्र रह गया है…..

हर साल 30 मई को पत्रकारिता दिवस मनाया जाता है l जिसका मुख्य उद्देश्य समाज को पत्रकारिता के मूल...

यूपी सरकार ने आम की होम डिलीवरी की शुरू की व्यवस्था, अब घर बैठे उठाएं आम का लुत्फ

प्रदेश में भी अब ऑनलाइन बुक कर बागों से सीधे डोर स्टेप पर आप ताजे रसीले आम मंगा सकेंगे।...

Love story का दुखद अंत: प्रेमिका की हत्या के बाद प्रेमी बोला मुझे भी मार दो, लड़की के बाप ने उसे भी मार दी...

  उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले की पुलिस ने प्रेमी-प्रेमिका की मौत के मामले में सनसनीखेज खुलासा किया है। लड़की...
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -

Bihar news  कोरोना संकट आज नहीं तो कल टल ही जाएगा, लेकिन यह दौर कुछ लोगों को ऐसा दर्द देकर जाएगा, जिसकी कसक में उनकी पीढिय़ां भी सिसकती हुई दिखाई देंगे। शनिवार को बिहार के भागलपुर से भी एक ऐसी ही घटना सुनने को मिली, जिसने पाषण से मजबूत दिल वालों की भी आंखों का न सिर्फ नम कर दिया, बल्कि वह बस यही कह सके। ये खुदा आखिर तेरी रजा क्या है, अब तो बस कर तेरे कहर की इंतहा कहां है।
रोंगटे खड़े कर देने वाली ये घटना भागलपुर के इशाक चौक की बताई जा रही है। यहां मानसिक रूप से कमजोर गुड्डू मंडल कचरा बीनने का काम करता था। इससे जो पैसे मिलते थे, उसी से पेट पाल रहा था। लेकिन, कोरोना संकट के चलते उसकी रोजी रोटी का यह जुगाड़ भी खत्म हो गया। इसकी वजह से घर में जो कुछ था वह सब भी खत्म हो गया। इसी बीच शुक्रवार की रात मिर्गी का दौरा आया, जिसने उनकी धड़कनों को भी थाम दिया। आर्थिक तंगी से जूझ रहे परिवार के पास इतना पैसा भी नहीं था कि अंतिम संस्कार कर सके इसलिए घर में ही कब्र खोदकर उन्हें दफन कर दिया गया। हालांकि, जब यह जानकारी पुलिस को मिली तो मौके पर थाने की फोर्स पहुंच गई। पुलिस को आसपास के लोगों ने बताया कि परिवार के सभी सदस्य मंद बुद्धि हैं। घर में कोई महिला नहीं है। शनिवार सुबह भाई, ओमप्रकाश मंडल और भतीजे नीरज व राजा ने उन्हें घर में दफन किया था। इधर पुलिस का कहना है कि शरीर पर कोई चोट के निशान नहीं मिले हैं, हालांकि शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। जांच रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest News

क्या पत्रकारिता दिवस मनाना औचित्य मात्र रह गया है…..

हर साल 30 मई को पत्रकारिता दिवस मनाया जाता है l जिसका मुख्य उद्देश्य समाज को पत्रकारिता के मूल...

यूपी सरकार ने आम की होम डिलीवरी की शुरू की व्यवस्था, अब घर बैठे उठाएं आम का लुत्फ

प्रदेश में भी अब ऑनलाइन बुक कर बागों से सीधे डोर स्टेप पर आप ताजे रसीले आम मंगा सकेंगे। यह सुविधा अगले सप्ताह से...

Love story का दुखद अंत: प्रेमिका की हत्या के बाद प्रेमी बोला मुझे भी मार दो, लड़की के बाप ने उसे भी मार दी...

  उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले की पुलिस ने प्रेमी-प्रेमिका की मौत के मामले में सनसनीखेज खुलासा किया है। लड़की के पिता ने ही दोनों...

सतपुली कॉलेज से हुआ National Webinar, देशभर के लोगों ने रखे विचार

पौड़ी-गढ़वाल-राजकीय महाविद्यालय सतपुली तथा विद्या अभिकल्पन मनोवैज्ञानिक शोध संस्था हल्द्वानी के संयुक्त तत्वावधान में एक राष्ट्रीय वेबिनार PROBLEMS FACING BY ADOLESCENTS DURING COVID-19 विषय...

नाला खुदाई के दौरान मिला 3 साल पहले MISSING युवक का कंकाल, AADHAR से हुई पहचान

उत्तर प्रदेश के जिला मैनपुरी के किशनी में उस वक्त सनसनी मच गई जब नाला निर्माण के लिए चल रही खुदाई के दौरान उसमें...
- Advertisement -